Hey दोस्तों क्या आप जानते हैं, की warren buffett जो दुनिया के अभी 7 वे आमिर इन्सान हैं। जिनकी कुल संपाती अभी 80 अरब डॉलर से भी अधिक है। यानि भारतीय रुपये मे 59,04,91,20,00,000 रुपया है और इन्होंने इतनी संपाती सिर्फ शेयर मार्केट मे निवेश करके कमाया है।

warren buffett biography in hindi

दोस्तों warren buffett कहते हैं, की यदि आप पैसों से पैसा कमाना नहीं सीखते हैं, तो आप जब तक इस धरती पर रहेंगे तब तक आप पैसों के लिए काम करते करते ही मरेंगे।


तो आज के हम इस Post मे जानेंगे warren buffett के सफलता के बारे में।


वारेन बफेट का प्रारंभिक जीवन

Waen buffett का जन्म 30 अगस्त 1930 को ओमहा, नेब्रास्का, अमेरिका में हुआ है, वारेन बुफेट के पिता का नाम हावर्ड बफेट था और मां का नाम लीला था जो एक हाउसवाइफ थी। उनके पिता भी शेयर बाजार के ही कारोबारी थे, जिससे उन्हें शुरू से ही सेविंग और इन्वेस्टमेंट की प्रेरणा मिलती रही वारेन बुफेट को बिजनेस और इन्वेस्टमेंट का शौक बचपन से ही था।

1930 में अमेरिकन क्राइसिस चल रहे थे इससे पहले कि वॉरेन बफे 1 साल के होते हैं उनकी फैमिली नहीं अपनी सारी बैंक सेविंग्स होगी क्योंकि जिस बैंक में और उनकी फैमिली की सेविंग थी वह बंद हो गया और ने बचपन में ही अपने मां-बाप गरीबी में जीते हुए देखें उनकी मां कई बार अपना एक टाइम का खाना चिपका देती थी ताकि फोरम के डेट खाना खा सके क्योंकि वह पूरा दिन काम करके थक जाते थे और यह सब गरीबी देखकर ही बोल ने बोला था या तो मैं 35 साल से पहले एक अमीर बनूंगा या फिर मैं वहां की सबसे ऊंची बिल्डिंग से छलांग मार के अपनी जान दे दूंगा

एक दिन लाइब्रेरी में पढ़ रहे थे तो उन्हें एक किताब दिखाई दी, जिसका टाइटल था $1000 कमाने के 1000 तरीके, जिसमे से एक आईडिया पसंद आ गया। कि आप एक गेम मशीन लगाकर भी $1000 कमा सकते हैं यह था कि एक मशीन को लगाने के बाद जो पैसे आएंगे।

उससे दूसरी मशीन खरीद ली जाए। फिर क्या था वह 7 साल का बच्चा और कैलकुलेशन करने लग गए की एक मशीन कितने की पड़ेगी और उसके प्रॉफिट मे कितना टाइम लगेगा दूसरी दुनिया का हर इंसान उनकी रिंग मशीन यूज करता है तो वह कितने पैसे कमा सकते हैं बचपन से ही काफी चीजें भेजना स्टार्ट कर दिया था।

वारेन बफेट बचपन से ही compound interest को समझते थे की कितना यह शक्तिशाली है, क्योंकि जब वारेन बफेट छोटे थे। तभी उन्होंने एक कहानी सुना था।

वारेन बफेट एक कहानी से बहुत प्रभावित हुए थे

जिसमे एक राजा से एक पंडित मिलने आया और राजा ने बोला की तुम जितना चाहोगे हम तुम्हें उतना दान देंगे मांगो क्या मांगते हो। इस पर वह पुजारी ने कहा कि इस सतरंज के पहले खाने में एक चावल का दाना दे दो फिर अगले बॉक्स में उसे डबल कर दो यानी दो चावल के दाने उसके बाद एक्स बॉक्स में उसे दोबारा डबल कर दो।

इस पर राजा बोला ये क्या तुम पागल हो गए हो, मांगना ही था तो हीरे जवाहरात मांगते। लेकिन जब उसके मंत्रियों ने हले खाने में एक चावल का दाना दे दो फिर अगले बॉक्स में उसे डबल कर दो यानी दो चावल के दाने उसके बाद एक्स बॉक्स में उसे दोबारा डबल कर के देखा तो उनके होस उड़ गए। क्योंकि उतना चावल तो उसके राज्य मे भी नहीं था।

इसी कहानी से वारेन बफेट ने compound interest को समझा था।

तब घर-घर जाकर न्यूज़पेपर बाटा करते थे न्यूजपेपर बाटकर वह $180 हर महीने कम आते थे और उन पैसों को कहीं ना कहीं इन्वेस्ट कर देते उन्होंने न्यूज़पेपर बैठकर बचत करके 14 साल की छोटी सी उम्र में अपना एक जमीन खरीद लिया था अपने कॉलेज के समय तक उन्होंने $80000 का बचत कर लिया था क्योंकि उस समय के हिसाब से बहुत ही ज्यादा हुआ करता था।

वारेन बफेट का कैरियर

अपने निवेश की सोच को और आगे बढ़ाते हुए उन्होंने इसी फील्ड में अपना कैरियर बनाया  वारेन buffett का मानना है कि वह आज जो भी है। उसका पूरा श्रेय बेंजामिन ग्राहम को जाता है और उन्हीं के वहां $1200 प्रति माह के वेतन पर काम काम किया था और शेयर बाजार में निवेश के गुण सीखे थे 

warren buffett thoutht - आप अगर उन चीजों को खरीदते हैं जिनकी आपको बिल्कुल भी जरूरत नहीं है, तो शीघ्र ही आपको उन चीजों को बेचना पड़ेगा जिनकी आपको सबसे ज्यादा जरूरत है।

जब वह कंपनी को  जॉइन किया था उसके 2 साल बाद बेंजामिन ग्राहम रिटायर हो गए और तभी वारेन buffett ने भी वहां से नौकरी छोड़ दी और अपना खुद का काम शुरू किया अगले कुछ सालों में देखते ही देखते कई उतार-चढ़ाव के बाद और दुनिया के सबसे आमिर व्यक्तियों  की गिनती में शामिल हो गए और आज दुनिया के तीसरे और अमेरिका के दूसरे सबसे धनी व्यक्ति बन गए और आज 50 वर्ष की आयु में भी सफल इन्वेस्टर और अन्य होने के साथ ही साथ एक मोटिवेशनल स्पीकर भी हैं और 21वीं सदी के सबसे बड़े दानवीर माने गए हैं।

Post a Comment

नया पेज पुराने